कोरोनावायरस / राजस्थान 31 मार्च तक पूरी तरह बंद; गुजरात के 4 शहर लॉकडाउन; देश के 13 अन्य राज्यों में भी ऐसे ही हालात

देश में अब तक कोरोनावायरस से 327 मामले सामने आ चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संक्रमण से लड़ाई के लिए रविवार को जनता कर्फ्यू का आह्वान किया है। इस बीच, कई राज्यों ने लॉकडाउन और कड़े प्रतिबंध भी लागू किए हैं। राजस्थान सरकार ने 31 मार्च तक पूरी तरह लॉकडाउन का ऑर्डर शनिवार रात जारी किया। गुजरात में अहमदाबाद, सूरत, राजकोट और बड़ोदरा में भी लॉकडाउन जैसे हालात रहेंगे। राज्य सरकार ने कहा कि यहां केवल जरूरी सामानों की बिक्री करने वाली दुकानें खुलेंगी और सरकारी दफ्तरों में आधा स्टाफ ही काम करेगा। ओडिशा ने भी 5 जिलों में लॉकडाउन के निर्देश दिए। मध्यप्रदेश में ग्वालियर को लॉकडाउन कर दिया गया है। राजधानी भोपाल में भी लॉकडाउन जैसे हालात हैं। यहां केवल जरूरी सामानों की बिक्री करने वाली दुकानें ही खुली हैं।

किन राज्यों में क्या प्रतिबंध लगाए गए?
राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 22 से 31 मार्च तक लॉकडाउन के आदेश दे दिए हैं। यहां आवश्यक सेवाओं के अलावा सभी सरकारी और निजी कार्यालय, मॉल्स, दुकानें, फैक्ट्रियां एवं सार्वजनिक परिवहन बंद रहेंगे।
गुजरात सरकार ने राज्य के 4 बड़े शहरों अहमदाबाद, सूरत, राजकोट और वडोदरा में केवल जरूरी सामानों की बिक्री को मंजूरी दी है। बाकी कंपनियां और दुकानें 25 मार्च तक बंद रहेंगे। यहां दुकानें और मॉल्स बंद रहेंगे। दूध, सब्जी, मेडिकल उपकरण और दवाइयों की दुकानें और हॉस्पिटल खुले रहेंगे। सरकारी दफ्तरों में आधा स्टाफ ही काम करेगा।

मध्यप्रदेश सरकार ने ग्वालियर में लॉकडाउन के आदेश जारी कर दिए हैं। राजधानी भोपाल में भी लॉकडाउन जैसे ही हालात हैं। यहां जरूरी सेवाओं को छोड़कर बाकी दुकानें बंद हैं। मॉल में भी एक वक्त में 50 से ज्यादा लोगों की एंट्री बैन कर दी गई है।
दिल्ली में सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा में फेयर प्राइस शॉप्स से राशन खरीदने वालों को अगले महीने से 50 फीसदी ज्यादा राशन मिलेगा। दिव्यांगों और बुजुर्गों को मिलने वाली पेंशन दोगुनी कर दी जाएगी। उन्होंने राज्य में लॉकडाउन के आदेश तो नहीं दिए हैं, लेकन लोगों से कहा है कि अगर जरूरत पड़ी तो फैसला लेंगे।
छत्तीसगढ़ सरकार ने सभी सरकारी दफ्तर 31 मार्च तक बंद कर दिए हैं। केवल जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी।

ओडिशा में मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने 5 जिलों में शटडाउन जैसे ही आदेश दिए हैं। इनके अलावा 8 कस्बों में भी एक हफ्ते तक शटडाउन रहेगा।
गोवा सरकार ने राज्य में धारा 144 लागू कर दी है। अंतरराज्यीय ट्रांसपोर्ट भी बंद कर दिया गया है। हालांकि, जरूरी सेवाओं की सप्लाई करने वाला परिवहन जारी रहेगा। यहां निजी कार्यक्रमों और शादियों पर भी अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है।
बिहार सरकार ने बस सेवा, रेस्टोरेंट और बैंक्वेट हॉल 31 मार्च तक बंद कर दिए हैं।
महाराष्ट्र में मुंबई, नागपुर, पिंपली चिंचवाड़, पुणे में 31 मार्च तक लॉकडाउन कर दिया गया है। नासिक में शराब बिक्री बंद कर दी गई है। अकोला को 24 मार्च तक शटडाउन कर दिया गया है। ठाणे में भी शटडाउन के ही हालात हैं।
प. बंगाल में ममता सरकार ने सभी रेस्टोरेंट, बार, पब, नाइट क्लब, एम्यूजमेंट पार्क, म्यूजियम, चिड़ियाघर 31 मार्च तक बंद कर दिे हैं। सभी गैर-जरूरी सामाजिक कार्यक्रमों को भी रोक दिया गया है।
तमिलनाडु, कर्नाटक, केरल और तेलंगाना में सरकार ने शिक्षण संस्थान, मॉल्स और ऐसे स्थानों पर लॉकडाउन के आदेश दिए हैं, जहां लोगों की भीड़ जमा होती है।
हरियाणा में गुड़गांव में लॉकडाउन के आदेश दे दिए गए हैं। इसके अलावा राज्य में लोगों के भीड़ जमा होने पर रोक लगा दी गई है। लोगों से घरों में रहने की अपील की जा रही है और कहा जा रहा है कि जरूरी होने पर घरों से बाहर निकलें और यात्रा करें।

आज देश में जनता कर्फ्यू
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को देशवासियों से जनता कर्फ्यू के दिन सुबह 7 बजे से रात 9 बजे के बीच घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की है। प्रधानमंत्री ने कहा कि रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन पर भीड़ बढ़ाकर हम लोग अपने स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। उन्होंने लोगों से अपील की कि जो लोग आजीविका के लिए दूसरे शहरों में गए हैं, वे अभी कुछ दिन वहीं ठहरें, वे अपने मूल निवास की तरफ न जाएं।

Submit your content

Please Register on our Blog and Post your article related with Education, News, Career etc.

Leave a Reply