Corona Virus के भय से उत्तर प्रदेश में बेसिक, माध्यमिक और हायर एजूकेशन की सभी परीक्षाएं दो अप्रैल तक रद्द

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में आयोजित हो रही सभी परीक्षाओं को 2 अप्रैल तक के लिए रद्द करने का ऐलान किया है। सरकार ने दो अप्रैल तक सभी शैक्षणिक संस्थान बंद करने का भी फैसला किया है। राज्य सरकार में मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना के खतरे से निपटने के लिए ये कदम उठाए हैं।


कौन कौन सी परीक्षाएं हुईं रद्द?
कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने मीडिया को जानकारी दी कि राज्य में बेसिक, माध्यमिक और हायर एजूकेशन के इंस्टीट्यूट, स्कूल और कॉलेजों में होने वाली सभी परीक्षाओं को दो अप्रैल तक रद्द कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि अभी जो परीक्षाएं उत्तर प्रदेश में चल रही हैं वो भी रद्द की गई हैं। इसके अलावा राज्य में आयोजित होने वाली सभी प्रतियोगी परीक्षाओं को भी दो अप्रैल तक के लिए स्थगित किया गया है । इससे पहले जारी एक आदेश में स्कूल-कॉलेजों को 22 मार्च तक बंद किया गया था।

भाषा के अनुसार, लोकभवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक के बाद सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने बताया कि सभी स्कूल-कॉलेज दो अप्रैल तक बंद रखने और अगले आदेश तक परीक्षाएं स्थगित करने का निर्णय लिया गया है।

सरकार जिलाधिकारियों के माध्यम से प्रदेश के सभी धर्म गुरुओं से अपील करेगी कि वे मंदिरों, मस्जिदों, गुरुद्वारों और गिरिजाघरों में भीड़ जमा होने से रोकें। राज्य में किसी भी प्रकार के धरना प्रदर्शन पर भी पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है। उन्होंने बताया कि राज्य के सभी सिनेमा घर, मल्टीप्लेक्स, जिम, पर्यटन स्थल भी दो अप्रैल तक बंद रहेंगे। इस अवधि में जिला प्रशासन द्वारा आयोजित तहसील दिवस और समाधान दिवस भी नहीं होगा।

शर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण का असर अब अब दिहाड़ी मजदूरों पर भी नजर आने लगा है। ऐसे मजदूरों के भरण पोषण के लिये सरकार ने प्रदेश के वित्त मंत्री की अध्यक्षता में श्रम मंत्री और कृषि मंत्री की तीन सदस्यीय टीम का गठन किया है। यह टीम तीन दिन में रिपोर्ट देगी और उसी आधार पर फैसला लिया जाएगा कि इनकी मदद कैसे की जाए। कितनी लोगों को और कितनी राशि देनी है, इसका फैसला होने के बाद उसके खातों में आरटीजीएस के जरिये धन डाला जाएगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस का प्रकोप स्टेज-2 में है सरकार प्रयास कर रही है कि यह स्टेज-3 में ना पहुंचे। इसके साथ ही फैसला लिया गया है कि निजी क्षेत्र में कार्यरत पेशेवर घर से ही काम करें। अगर कोई सरकारी कर्मचारी कोरोना वायरस से संक्रमित होता है तो वह स्वस्थ होने तक अवकाश पर रहे, इस दौरान उसे सवैतनिक अवकाश दिया जाएगा। प्रवक्ता ने बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमित सभी लोगों का मुफ्त इलाज होगा।


पोस्टर बैनर लगाकर जागरूक किया जाए-
श्रीकांत शर्मा ने बताया कि इस दौरान तहसील दिवस/मंगल दिवस व जिला स्तर पर होने आयोजित कार्यक्रम रद्द रहेंगे। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि कोरोना से बचाव के लिए राज्यभर में पोस्टर बैनर लगाकर लोगों को जागरूक किया जाए।


सभी पर्यटनस्थल 31 मार्च तक बंद-
श्रीकांत शर्मा ने जानकारी दी कि राज्य के सभी पर्यटनस्थलों को 31 मार्च तक दर्शकों के लिए बंद करने का फैसला लिया गया है। हालांकि इन स्थलों पर रोजाना साफ-सफाई का कार्य नियमित रूप से जारी रहेगा।

सीबीएसई की परीक्षा कल –

सीबीएसई की 12वीं परीक्षाएं चल रही हैं। कल यानी 18 मार्च को सीबीएसई का पेपर है,ऐसे में यूपी के छात्र दुविधा में हैं कि कहीं उनकी परीक्षा तो नहीं रद्द हो गई। हालांकि खबर लिखे जाने तक सीबीएसई की ओर से इस पर अभी कोई सूचना नहीं जारी की गई।
 

अभी होनी हैं सीबीएसई की ये परीक्षाएं-

Wednesday, 18th March 2020

लीगल स्टडीज, शॉटहैंड (अंग्रेजी) (OLD and New) और फूड प्रोडक्शन
    

Thursday,  19th March 2020

पंजाबी, बंगाली, सिन्धी आदि अन्य भाषाओं की परीक्षा।

Friday, 20th March 2020

हिन्दी इलेक्टिव और हिन्दी कोर


Saturday, 21st March 2020

कम्प्यूटर साइंस


Monday, 23rd March 2020

भूगोल


Tuesday, 24th March 2020


बिजनेस अध्ययन

Thursday, 26th March 2020

होम साइंस


Monday, 30th March 2020
समाजशास्त्र

Submit your content

Please Register on our Blog and Post your article related with Education, News, Career etc.

Leave a Reply